ALL ब्रेकिंग जयोतिष देश मनोरंजन समाचार राज्य
डॉ पंड्या पर लगाए आरोप किसने किए खारिज?
May 7, 2020 • उत्तरांचल वाणी • समाचार

शांतिकुंज प्रमुख डॉ पंड्या पर लगाए गए आरोपों को सिरे से किया खारिज बताया को बदनाम करने की साजिश

एक महिला द्वारा दिल्ली के विवेक विहार थाने में शांतिकुंज के प्रमुख डॉ प्रणव पंड्या के खिलाफ यौन शोषण मामले में लिखाई गई रिपोर्ट में लगाए गए आरोपों को  शांतिकुंज ने सिरे से खारिज कर दिया है आज शांतिकुंज के अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से जारी बयान में कहा गया है  कि संस्था के प्रमुख और संस्था पर लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं और यह केवल एक भ्रमित करने के लिए झूठा प्रचार किया जा रहा है और गायत्री परिवार के 16 करोड श्रद्धालुओं और संस्थान के नाम को बदनाम करने के लिए एक साजिश है
    बिना नाम  लिखित जारी बयान में कहा कि विश्व गायत्री परिवार इस मामले में किसी भी प्रकार की जांच को तैयार है बयान के मुताबिक विश्व गायत्री परिवार  शांतिकुंज एक आध्यात्मिक संस्था है और जो सालों से समाज को जोड़ने और समाज के नैतिक उत्थान के लिए कार्य कर रही है और संस्था के प्रमुख भद्र आध्यात्मिक व्यक्तित्व के धनी हैं और उन पर लगाए गए यह आरोप बिल्कुल निम्न स्तर के हैं 10 साल बाद इस कथित मामले को लेकर रिपोर्ट दर्ज कराना इस मामले की सच्चाई को खुद-ब-खुद बयां करता है यह केवल एक पूरी झूठी साजिश है जो संस्थान और उसके प्रमुख को बदनाम करने के लिए की गई है और एक आध्यात्मिक व्यक्तित्व और संस्था के प्रमुख के केवल चरित्र हनन का प्रयास है ।
            जारी बयान में कहा गया कि  कुछ निहित स्वार्थों वाले  लोगों द्वारा  किए गए इस कुत्सित  प्रयास से संस्थान से जुड़े पूरे विश्व भर के 16 करोड़  श्रद्धालुओं की भावनाओं को कष्ट हुआ है और चोट पहुंची है जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती और यह सब निहित स्वार्थों की पूर्ति करने के लिए संस्थान की छवि को धूमिल करने के लिए किया गया है और दुनिया भर में पहले संस्थान के अनुयायियों को हतोत्साहित करने का प्रयास है
                अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि संस्थान के प्रमुख प्रसिद्ध देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति होने के साथ-साथ सुप्रसिद्ध वैज्ञानिक ,चिकित्सक ,आध्यात्मिक प्रतिष्ठित सामाजिक कार्यकर्ता और अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त व्यक्तित्व के धनी है जिनका पवित्र उद्देश्य समाज, राष्ट्र और उच्च कोटि के विश्व का निर्माण करना है ऐसे महान व्यक्तित्व के धनी आध्यात्मिक संस्था के प्रमुख की छवि को धूमिल करने का कुछ लोगों ने निहित स्वार्थों  के कारण कुत्सित प्रयास किया है जिसका अखिल विश्व गायत्री परिवार कड़े से कड़े शब्दों में निंदा करता है और परिवार किसी भी तरह की जांच  के लिए तैयार है